Shree Annapurna Rasoi Yojana: इंदिरा रसोई योजना का नाम बदलकर किया श्री अन्नपूर्णा रसोई योजना, प्रति थाली अनुदान 17 रुपए से बढ़ाकर किया 22 रुपए

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

राजस्थान सरकार द्वारा गरीब लोगो के लिए अनेक प्रकार की योजनाए चलाई जा रही है। राज्य में कुछ दिनों पहले विधानसभा चुनाव हुए थे जिसमें इस बार भाजपा ने बाजी मारी है। राज्य में नई सरकार के आने से अब योजनाओ का नाम बदलने का सिलसिला भी शुरू हो चुका है।

नई सरकार के गठन होने के बाद चल रही योजनाओ का कुछ विस्तार भी किया जाएगा और नई-नई योजनाओ का संचालन भी किया जाएगा। प्रदेश में पिछली सरकार के समय से चल रही योजना जिसका नाम इंदिरा रसोई योजना है जिसका नाम बदलकर अब श्री अन्नपूर्णा योजना किया जाएगा।

सरकारी भर्तियों व योजनाओं से जुडी अपडेट सबसे पहले पाने के लिए टेलीग्राम चैनल ज्वाइन करें - यहाँ क्लिक करें

इस संबंध में स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक हरदेश कुमार शर्मा ने आदेश जारी किया था। अब श्री अन्नपूर्णा रसोई योजना नाम लिखवाया जाना सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश के सभी निकायों को नगरीय निकायों में संचालित योजना का नाम ऑनलाइन पोर्टल पर तथा समस्त सामग्री, प्रचार प्रसार आदि पर परिवर्तित किया जाएगा।

आम लोगो के लिए चलाई जा रही इस योजना का केवल नाम बदला जाएगा, लोगो को इस योजना के तहत 8 रुपए में खाना मिल जाता था इसमें किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं किया गया, अब भी आम लोगो को 8 रुपए में ही खाना मिलेगा। योजना का नाम बदलने के साथ ही इस योजना में मिलने वाली सुविधा में इजाफा किया गया।

योजना के तहत मिलने वाले खाने की मात्रात्मक और गुणात्मक सुधार किए जाएंगे। इस योजना के नाम बदलने को लेकर विभागीय स्तर पर मिल चुके है। आदेशानुसार अब जल्द ही इस योजना के नाम बदलने का कार्य पूरा किया जाएगा। प्रदेश के लोगो को अब इंदिरा रसोई योजना की जगह श्री अन्नपूर्णा रसोई योजना नाम देखने को मिलेगा। नाम बदलने के साथ ही अन्य बदलावों को भी लागू किया जाएगा।

READ THIS-   8th Pay Commission DA Hike Update: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए होगी बड़ी खुशखबरी, दिवाली से इतने दिन पहले होगी 4% डीए बढ़ने की घोषणा

इनमें होगा बदलाव

राजस्थान में नई सरकार आने से अब चली रही योजनाओ का नाम बदलने का सिलसिला भी जारी रहेगा। राज्य में इंदिरा रसोई योजना के माध्यम से आम लोगो को 8 रुपए में खाना दिया जाता है अब सता में नई सरकार आने से योजना के नाम में तो बदलाव किया जाएगा लेकिन प्रति थाली की भुगतान राशि में कोई बदलाव नही किया जाएगा।

योजना के तहत दिए जाने वाले भोजन की मात्रा में थोड़ा बदलाव किया जाएगा। पहले योजना के तहत भोजन में 250 ग्राम चपाती दी जाती थी अब 300 ग्राम चपाती दी जाएगी। परोसी जाने वाली थाली में 100 ग्राम चावल भी मिलेंगे। इस योजना में पहले की तरह ही 100 ग्राम दाल और 100 ग्राम सब्जी मिलेगी।

सरकार की ओर से अनुदान राशि में भी बढ़ोतरी कर दी गई है। पहले इस योजना के तहत प्रति थाली 17 रूपए का अनुदान था अब इसे बढ़ाकर 22 रुपए प्रति थाली अनुदान किया गया।

Join WhatsApp