REET Update: आचार संहिता हटते ही राजस्थान में रीट समेत होगी कई नई भर्तियां, जाने पूरी खबर

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

राजस्थान में विधानसभा चुनाव होने के कारण आचार संहिता लगी हुई है। आचार संहिता लगने से प्रदेश में कई सारी भर्तियां अटकी हुई है। सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे सभी स्टूडेंट को आचार संहिता के हटने का इन्तजार है ताकि अटकी हुई भर्तियां कराई जा सके।

राजस्थान में लाखो बच्चे सरकारी नौकरी की तैयारी में जुटे हुए है। REET, फार्मासिस्ट, रेडियोग्राफर, लेब टेक्नीशियन, नर्सिंग ऑफिसर, डेंटल टेक्नीशियन, नेत्र सहायक, ईसीजी टेक्नीशियन समेत तमाम भर्तियों का इंतजार स्टूडेंट कर रहे है।

सरकारी भर्तियों व योजनाओं से जुडी अपडेट सबसे पहले पाने के लिए टेलीग्राम चैनल ज्वाइन करें - यहाँ क्लिक करें

राजस्थान में आचार संहिता हटने के बाद रीट समेत कई नई भर्तियां होगी। जैसा की हम जानते है राजस्थान में 9 अक्टुम्बर को आचार संहिता लगा दी गई थी, आचार संहिता के कारण 16 हजार से भी अधिक भर्तियां अटकी हुई है।

सीएम अशोक गहलोत ने बजट 2023-24 में 1 लाख भर्तियों की घोषणा की थी। इन भर्तियों में पशुपालन में 500 पद, कृषि विभाग में 1000 पद, आयुर्वेद में 500 पद, शिक्षा विभाग में 15 हजार पद जेसी अन्य भर्तियां शामिल है।

रीट परीक्षा का इंतजार

प्रदेश में विधानसभा चुनाव की वजह से आचार संहिता लगी हुई है जिससे की प्रदेश में हजारो भर्तियां अटकी पड़ी है। प्रदेश के 12 लाख से भी अधिक युवा रीट समेत नई भर्तियों के इंतजार में बैठे ही।

जैसा की हम जानते है राजस्थान में भर्ती परीक्षा कंडक्ट करवाने हेतु RPSC और RSSB प्रमुख भर्ती एजेंसिया है। इन दोनों एजेंसियों के द्वारा ही राजस्थान में अधिकांश भर्तियां करवाई जाती है। प्रदेश के युवाओ को इन दोनों एजेंसियो की तरफ ही नजर है।

बता दे की RPSC ने जून से सितम्बर के दौरान 7 अभ्यर्थनाए निकाली थी। राजस्थान में 7 लाख से भी अधिक बीएसटीसी और बीएड अभ्यर्थी नई रीट परीक्षा के इंतजार में बैठे है।

READ THIS-   Best Recharge Plan: जियो और एयरटेल दोनों फेल, इस प्लान के तहत आपको मिलेगी 75 दिनो की वेलिडिटी, जानिए पूरी खबर

राजस्थान में 9 अक्टुम्बर को आचार संहिता लगने से अशोक गहलोत की बजट घोषणा समेत करीब 45 हजार भर्तियां अटकी हुई है। माना जा रहा है अब आचार संहिता हटते ही प्रदेश में अटकी हुई भर्तिया शुरू होने वाली है।

राज्य में आचार संहिता के कारण भर्तियां अटकी होने की वजह से 12 लाख से भी अधिक अभ्यर्थी इन्तजार कर रहे है। 12 लाख से भी अधिक अभ्यर्थी रीट, कॉलेज, स्कुल शिक्षा समेत अन्य भर्तियों के इन्तजार में है।

अब इन सभी अभ्यर्थियों को आचार संहिता हटने पर नजर है। जैसे ही आचार संहिता हटेगी नई भर्तियां आने से अभ्यर्थीयो को राहत मिलने वाली है। जानकारी के मुताबिक़ यह यदि ये भर्तियां समय पर नहीं होती है तो 20 फीसदी युवाओ का ओवरएज होने का खतरा है।

जबकि 70 फीसदी से भी अधिक युवा परीक्षा की तैयारी में लगे हुए है। सत्ता में सरकार के गठन होने के बाद ही नई भर्तियां आने वाली है। चिकित्सा शिक्षा भर्तियों की प्रोविजनल सूचि के बावजूद भी रिजल्ट अटका हुआ है। आचार संहिता के हटते ही परिणाम के घोषित होने की संभावना जताई जा रही है।

Join WhatsApp