बड़ी खबर! भजन लाल सरकार का राजस्थान के सरकारी कर्मचारियों के लिए नया आदेश जारी, प्रदेश में लागू किया ये सिस्टम, जाने पूरी खबर

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

भजन लाल सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के लिए एक नया आदेश जारी किया है। राजस्थान में नई सरकार बनने के बाद सरकारी कर्मचारियो पर नकेल कसने की कवायद तेज कर रही है। राज्य की भजन लाल सरकार ने सरकारी कर्मियों के लिए पीएस पंक्चुअलिटी सिस्टम लागू किया है।

राजस्थान में सता परिवर्तन होने के साथ ही अब नियमो में बदलाव और कुछ नए नियम भी लाए जा रहे है। राज्य सरकार ने चिकित्सा विभाग निदेशालय के अधिकारियों और कर्मचारियो के लिए यह आदेश जारी किया है। सरकारी अस्पतालो में कार्यरत डॉक्टर्स, नर्सिंग ऑफिसर के लिए सरकार ने पीएस पंक्चुअलिटी सिस्टम लागु किया किया है। अब अस्पतालो में डॉक्टर और नर्स भी अन्य कर्मियों की तरह सुबह 9:30 से 6:00 बजे तक अपनी सेवाएं देंगे। अब इन्हें निर्धारित समय पर आना होगा।

सरकारी भर्तियों व योजनाओं से जुडी अपडेट सबसे पहले पाने के लिए टेलीग्राम चैनल ज्वाइन करें - यहाँ क्लिक करें

अब चिंकित्सा के अधिकारियों को भी समय नियत समय पर आना होगा और इसके साथ ही समय से पूर्व नही जा सकेंगे। इन सब के लिए सरकार ने पीएस पंक्चुअलिटी सिस्टम लागू किया है। आइये जानते है राज्य सरकार के इस जारी आदेश के बारे में पूरे विस्तार से, आप हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

अस्पतालो के लिए नया टाइम टेबल जारी

जयपुर के सभी हॉस्पिटलों के लिए नया टाइम टेबल जारी कर दिया है। अब हॉस्पिटल के सभी अधिकारियों, डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ और अन्य कर्मचारियो को सुबह 9:30 बजे उपस्थित होना होगा । सुबह 9:30 से शाम 6 बजे तक का समय रहेगा। 6 बजे से पहले ये अपना स्थान नही छोड़ सकेंगे।

READ THIS-   NPS New Rules: नेशनल पेंशन सिस्टम में होने जा रहे है नए बदलाव, जानिए पेंशनर्स को कैसे मिलेगा इसका जबरदस्त फायदा

इसके अलावा इन अधिकारियों, डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ और कर्मचारियो के लिए लंच का टाइम दोपहर 1:30 बजे से 2 बजे तक रहेगा। इसके अलावा यदि डॉक्टर या नर्स को कही जाना होतो को रजिस्टर में यह मेंशन करना होगा। इस संबंध में जयपुर में मुख्य चिकित्सा अधिकारी और स्वास्थ्य अधिकारी द्वितीय की ओर से आदेश भी जारी कर दिए है। आदेश में यह कहा गया कि इन नियमो की को पालना करना सुनिश्चित किया जाए।

इस संबंध में किसी भी प्रकार का तर्क वितर्क ना हो। यदि कोई अधिकारी, डॉक्टर, नर्स स्टाफ या फोर कर्मी इस आदेशों की अवेहलना करता है तो उस पर कार्यवाही की जाएगी। यदि किसी काम की वजह से अवकाश लेना पड़े और अवकाश बिना किसी स्वीकृति के ले ले तो ऐसे में उनके खिलाफ अनुशानात्मक कार्यवाई की जाएगी।

ऐसे देनी होगी उपस्थिति

यह आदेश शनिवार से लागू हो गए है। अब सभी अधिकारियो, डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ और कर्मियों को उपस्थिति रजिस्टर के साथ ही बायोमेट्रिक से भी अपनी उपस्थिति दर्ज करनी होगी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी और स्वास्थ्य अधिकारी इसके लिए पहले से ही स्पष्ट कर चुके है कि निरीक्षण के दौरान बायोमेट्रिक मशीन न होने पर प्रभारी अधिकारी इसके स्वयं जिम्मेदार होंगे।

Join WhatsApp