PM Kusum Yojana: किसानों की मौज! सोलर पंप पर मिल रही है 90% की सब्सिडी, जानिए कैसे उठाए इसका लाभ

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

किसानो को सोलर पंप पर सब्सिडी देने के लिए केंद्र सरकार ने पीएम कुसुम योजना की शुरुआत की थी। ताकि किसान पीएम कुसुम योजना के तहत सब्सिडी प्राप्त कर अपने खेत पर सोलर पंप लगवा सके।

जिससे की बिजली की बचत के साथ ही खेतो की सिंचाई के लिए काफी मदद मिलेगी। साल 2019 में नवीन और नवीकरणीय मंत्रालय के द्वारा पीएम कुसुम योजना की शुरुआत की गई थी। ताकि इस योजना से किसानो को लाभ मिल सके।

सरकारी भर्तियों व योजनाओं से जुडी अपडेट सबसे पहले पाने के लिए टेलीग्राम चैनल ज्वाइन करें - यहाँ क्लिक करें

आप भी इस योजना के तहत सोलर पंप लगवा सकते हो और इस पर सब्सिडी प्राप्त कर सकते हो। बता दे की यदि आप इस स्कीम के तहत सोलर पंप लगवाते हो तो आपको 90 फीसदी तक की स्कॉलरशिप मिल जाती है।

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानो को अपना ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इस योजना में किसान अपना 10% पैसा खर्च करके सोलर पंप की सुविधा ले सकते है।

सोलर पंप किसानो के लिए काफी फायदेमंद रहता है, एक बार सोलर पंप लगवाने के बाद यह 25 वर्षो तक उपयोगी रहता है। इसकी देखभाल करना भी काफी सरल है।

बिजली बचत के साथ ही सिंचाई के लिए यह बेहद ही उपयोगी है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको इस योजना से सबंधित सम्पूर्ण जानकारी बताने वाले है। आप हमारे साथ इस लेख के माध्यम से अंत तक जरूर जुड़े रहे।

पीएम कुसुम योजना के तहत 90% की सब्सिडी

जैसा की हमने आपको बताया पीएम कुसुम योजना के तहत किसानो को सोलर पंप लगवाने पर 90% तक की सब्सिडी मिल जाती है। किसानो को सोलर पंप लगवाने पर 30-30 फीसदी की सब्सिडी केंद्र और राज्य सरकार के द्वारा मिल जाती है।

READ THIS-   LIC Kanyadan Scheme: बेटी के भविष्य के लिए बहुत ही फायदेमंद ये योजना, जानें इसके लाभ

वही 30 फीसदी की बैंक द्वारा ऋण की सुविधा दी जाती है। बता दे की इस योजना से किसान के अलावा भी सहकारी समितियां, पंचायत, किसान समूह, किसान उत्पादक संगठन आदि भी लाभ ले सकते है।

किसानो को मिलता है इतने मेगावॉट का सोलर संयंत्र

इस योजना के तहत देश के किसान 0.5 मेगावॉट से 2 मेगावॉट क्षमता तक के सोलर पंप लगवा सकते है। किसान अपनी भूमि के अनुपात में 2 मेगावॉट के लिए आवेदन या वितरण निगम द्वारा अधिसूचित क्षमता के लिए आवेदन कर सकते है।

इस योजना के तहत लगभग 2 हेक्टेयर भूमि के लिए 1 मेगावॉट का सोलर पेनल दिया जाता है। इसके आधार पर आवेदक आसानी से अपना आवेदन कर सकते हो लाभ उठा सकते है।

पीएम कुसुम योजना की मुख्य बाते

  • पीएम कुसुम योजना का पूरा नाम ‘प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा और उत्थान महाभियान’ है।
  • पीएम कुसुम योजना की शुरुआत साल 2019 में नवीन और नवीकरणीय मंत्रालय के द्वारा शुरू की गई।
  • भारत में सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा पीएम कुसुम योजना की शुरुआत की गई।
  • पीएम कुसुम योजना के तहत किसानो को सब्सिडी प्रदान की जाती है जिससे की किसानो को बहुत ही कम लागत में सोलर सुविधा मिल जाती है।
  • किसानो को इस योजना के तहत सब्सिडी किसानो के बैंक खाते में DBT के माध्यम से ट्रांसफर की जाती है।
  • इस योजना में केंद्र और राज्य सरकार दोनों ही साझे से सब्सिडी प्रदान करती है।
  • किसानो के सोलर पंप के द्वारा उत्पादित की जाने वाली अतिरिक्त बिजली को राज्य बिजली वितरण कंपनियों के द्वारा खरीद ली जाएगी।
READ THIS-   Modi Govt Scheme : 20 रुपए में 2 लाख रुपए का फायदा, बड़े काम की है ये मोदी सरकार की स्किम, जाने पूरी डिटेल

पीएम कुसुम योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज

पीएम कुसुम योजना में आवेदन के लिए आवेदक के पास निम्न दस्तावेज हो –

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • पंजीकरण की कॉपी
  • ऑथोराइजेशन लेटर
  • नेटवर्थ सर्टिफिकेट (चार्टर्ड अकाउंट द्वारा जारी)
  • बैंक पास बुक
  • भूमि के दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर आदि।

पीएम किसान योजना में अपना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

देश का कोई भी किसान पीएम कुसुम योजना के तहत अपना ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। केंद्र सरकार के द्वारा पीएम कुसुम योजना में आवेदन के लिए आधिकारिक वेबसाइट भी लांच की है।

हम आपको स्टेप बाय स्टेप तरिके से पीएम कुसुम योजना में आवेदन को प्रक्रिया बताने जा रहे है। पीएम किसान में आप अपना ऑनलाइन आवेदन करने के लिए हमारे निम्न स्टेप्स को फॉलो कर सकते हो –

  • पीएम कुसुम योजना में अपना ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले पीएम कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट को विजिट करना होगा।
  • होम पेज पर आने के बाद आप दिए गए सभी दिशा निर्देशों को ध्यानपुर्वक पढ़ ले।
  • अब आपको होम पेज पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का विकल्प दिखाई देगा जिसे क्लिक कर ले।
  • इसके बाद आपको अपनी सारी जानकारी दर्ज कर लेनी है।
  • दर्ज करने के बाद आपको मांगे जाने वाले आवश्यक सभी दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड कर लेने है।
  • इसके बाद आपको अंत में सब्मिट के विकल्प पर क्लीक कर लेना है।
  • पंजीकरण सफल होने के बाद चयन होने वाले किसानो को 10 प्रतिशत लागत जमा करानी होगी।
  • कुछ दिनों बाद खेतो में सोलर पंप लगा दिए जाएंगे।
READ THIS-   Rajasthan Divyang Scooty Yojana 2023: राजस्थान मुख्यमंत्री दिव्यांग स्कूटी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन 11 अप्रैल से शुरू
Join WhatsApp