Old Pension Scheme: क्या राजस्थान में बंद होगी ओल्ड पेंशन स्कीम, पुरानी पेंशन पर संकट के बादल मंडराने शुरू, जानिए पूरी खबर

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने लोगो को ओल्ड पेंशन स्कीम के लिए कानून बनाने की गारंटी दी थी। वही भाजपा सरकार ने चुनाव से पहले ओल्ड पेंशन स्कीम के लिए अपने संकल्प पत्र में किसी भी प्रकार का जिक्र नही किया है। इससे यह स्पष्ट होता है कि भाजपा सरकार पुरानी पेंशन स्कीम के पक्ष में नही है।

हालांकि मीडिया के सवालों से गृह मंत्री अमित शाह ने एक बार यह जरूर कहा था कि हम ओल्ड पेंशन स्कीम के लिए कमेटी का गठन करेंगे। राजस्थान में नई सरकार के आने के बाद अब पुरानी पेंशन स्कीम पर संकट के बादल मंडरा रहे है। पुरानी पेंशन स्कीम को लेकर काफी सवाल उठ रहे है।

सरकारी भर्तियों व योजनाओं से जुडी अपडेट सबसे पहले पाने के लिए टेलीग्राम चैनल ज्वाइन करें - यहाँ क्लिक करें

अब सरकार को यह स्पष्ट करना होगा की क्या राज्य में पुरानी पेंशन स्कीम ही लागू रहेगी या नई पेंशन स्कीम लागू की जाएगी। राज्य में भाजपा सरकार बनने के बाद पुरानी पेंशन स्कीम को लेकर कई सारे सवाल खड़े हो रहे है और इन सवालों से सरकार से स्पष्ट फैसला मांगा जा रहा है। चिंरंजीवी योजना के बाद अब गहलोत सरकार की पुरानी पेंशन स्कीम पर भी खतरा मंडरा रहा है।

कांग्रेस विधायक इंदिरा मीना और पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा ने वित्त विभाग से अपने सवाल लगाए है। हालांकि इसके लिए स्थिति 22 जनवरी को ही साफ हो सकेगी। आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको पुरानी पेंशन स्कीम से जुड़ी पूरी खबर बताने वाले है। आप हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

ओल्ड पेंशन स्कीम- अपडेट

पुरानी पेंशन स्कीम को लेकर कई लोगो के मन में सवाल है और इन सवालों का जवाब सरकार से माँगा जा रहा है। वित्त मंत्री दिया कुमारी द्वारा ओल्ड पेंशन स्कीम के लिए स्पष्ट फैसला सुनाया जाएगा। अभी तक भाजपा सरकार ने पुरानी पेंशन स्कीम को लेकर कभी अपना वादा नही किया है। बीजेपी पुरानी पेंशन योजना के पक्ष में कभी नही रही है।

READ THIS-   RPSC RAS Pre Exam Official Answer Key 2023 PDF Download: राजस्थान आरएएस प्री परीक्षा की ऑफिशियल आंसर की जारी, यहाँ से डाउनलोड करें

गहलोत सरकार द्वारा शुरू की गई चिंरंजीवी योजना के तहत 25 लाख तक का इलाज मुफ्त में दिया जाता है। लेकिन नए चिंकित्सा मंत्री गजेंद्र सिंह ने इसे फर्जी और बोगस बताया है। इससे यह माना जा सकता है कि गहलोत सरकार की चिंरंजीवी योजना के साथ ही अब पुरानी पेंशन स्कीम पर भी खतरा हो सकता है।

22 जनवरी को विधानसभा में वित्त मंत्री दिया कुमारी द्वारा ओल्ड पेंशन स्कीम के लिए स्पष्ट फैसला सुनाया जाएगा। कांग्रेस के दोनों विधायको ने यह सवाल किया की क्या सरकार पुरानी पेंशन स्कीम को ही लागू रखना चाहती है या पुरानी पेंशन स्कीम को बंद कर नई पेंशन स्कीम लाना चाहती है।

भाजपा नई पेंशन स्कीम के पक्ष में

राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार ने पुरानी पेंशन स्कीम को अपने राज्य के कर्मियों के लिए लागू को थी इसके बाद इस योजना को बोर्ड, निगम जैसे स्वायत संस्थाओं के कर्मियों के लिए भी लागु किया था। लेकिन अब राजस्थान में नई सरकार बनने के बाद ओल्ड पेंशन स्कीम पर संकट के बादल मंडरा रहे है।

पुरानी पेंशन स्कीम को लेकर कई सारे सवाल खड़े हो रहे है। भाजपा सरकार नई पेंशन स्कीम के पक्ष में रही है। क्या यह योजना बन्द होगी? इस तरह के कई सारे सवाल उठ रहे है। भाजपा पुरानी पेंशन स्कीम के मुद्दे को अपना एक अलग स्टैंड रखती है। चुनाव के समय भी भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में पुरानी पेंशन को लेकर कोई बात नही की थी।

Join WhatsApp