राजस्थान आजीविका ऋण योजना 2022: राजस्थान में किसानों को मिलेगा 2 लाख रुपये तक ब्याज मुक्त ऋण, जानें कैसे करे आवेदन

Farmer Loan In Rajasthan: नमस्कार दोस्तों! राजस्थान में किसानों को मिलेगा 2 लाख रुपये तक ब्याज मुक्त ऋण, जानें कैसे करे आवेदन। आज के इस आर्टिकल में हम राजस्थान के गरीब किसान परिवारों के लिए एक खुशखबरी देने जा रहे है।

दरअसल हम राजस्थान सरकार की एक नई योजना के बारे में बात करने वाले है जिसके तहत प्रदेश की गहलोत सरकार प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के परिवारों के लिए 25 हजार से लेकर 2 लाख रुपये तक ऋण बिना ब्याज के देने जा रही।

आपको बता दें कि कृषि कार्यों के संग अकृषि कार्यों के लिए भी ब्याज मुक्त ऋण मिल पाएगा। इन कार्यों के लिए अकृषि क्षेत्र में एक लाख परिवारों को 2 हजार करोड रूपये के ब्याज मुक्त ऋण वितरित किये जाने की बजट घोषणा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की थी।

 राजस्थान में किसानों को मिलेगा 2 लाख रुपये तक ब्याज मुक्त ऋण की संपूर्ण जानकारी के बारे में जानने के लिए आप सभी हमारे द्वारा लिखे गए इस पोस्ट को ध्यान से अंत पढ़ें तथा हमारे वेबसाइट से लगातार जुड़े रहे और पल-पल की खबर के बारे में अपडेट प्राप्त करते रहें!

Join WhatsApp Group                                 JOIN NOW
Join Telegram Channel                               JOIN NOW

साथियो हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने सभी साथियो के साथ शेयर करे तथा इसी तरह का रेगुलर अपडेट के लिए आप हमारे व्हाट्सएप्प/ टेलीग्राम ग्रुप को ज्वाइन करे।

आजीविका ऋण योजना के तहत मिलेगा ऋण

राजस्थान सरकार के वर्तमान मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने ब्याज मुक्त ऋण वितरित किये जाने की बजट में की थी। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के परिवारों को आजीविका ऋण योजना लागू की है जिसके तहत वर्ष 2022-23 में एक लाख परिवारों को अकृषि कार्यों के लिए 2 हजार करोड़ रूपये का ब्याज मुक्त ऋण मुहैया करवाया जाएगा।

आजीविका ऋण योजना के तहत यह ऋण वाणिज्यिक बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, सहकारी बैंकों एवं स्माल फाईनेन्स बैंकों के माध्यम से किसानों को प्रदान किया जाएगा। राजस्थान सरकार इस प्रकार के ऋणों के लिए 100 करोड़ रुपये का ब्याज अनुदान देगी।

सहकारिता मंत्री उदय लाल आंजना ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में कई परिवार, कृषि एवं पशुपालन के साथ-साथ अकृषि गतिविधियां यथा हस्तशिल्प, लघु उद्योग, कताई-बुनाई, रंगाई-छपाई आदि पर भी आजीविका के लिए निर्भर है।

इन कार्यों के लिए अकृषि क्षेत्र में एक लाख परिवारों को 2 हजार करोड रूपये के ब्याज मुक्त ऋण वितरित किये जाने की बजट घोषणा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की थी।

मुख्यमंत्री गहलोत ने आजीविका ऋण योजना को मंजूरी दे दी है। योजना के लागू होने से अब ग्रामीण क्षेत्र के कृषक परिवारों को कृषि कार्यों के साथ-साथ अकृषि कार्यों के लिए भी ब्याज मुक्त ऋण मिल पायेगा।

आजीविका ऋण योजना की विशेषताएँ

राजस्थान सरकार की आजीविका ऋण योजना की निम्न विशेषताएँ है-

  • आजीविका ऋण योजना के तहत राजस्थान सरकार 2022-23 में एक लाख परिवारों को अकृषि कार्यों के लिए 2 हजार करोड़ रूपये का ब्याज मुक्त ऋण दिया जायेगा।
  • आजीविका ऋण योजना से ऋण वाणिज्यिक बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, सहकारी बैंकों एवं स्माल फाईनेन्स बैंकों के माध्यम से मिलेगा।
  • आजीविका ऋण योजना के तहत इस प्रकार के ऋणों के लिए 100 करोड़ रुपये का ब्याज अनुदान देगी। 
  • अकृषि क्षेत्र में एक लाख परिवारों को 2 हजार करोड रूपये के ब्याज मुक्त ऋण वितरित किये जाने की बजट घोषणा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की थी।
  • इस योजना के लागू होने से अब ग्रामीण क्षेत्र के कृषक परिवारों को कृषि कार्यों के साथ-साथ अकृषि कार्यों के लिए भी ब्याज मुक्त ऋण मिल पायेगा।
  • आजीविका ऋण योजना के तहत प्रति समूह अधिकतम 10 सदस्यों को व्यक्तिगत रूप से ऋण दिया जायेगा एवं ऋण की अधिकतम राशि 2 लाख रुपये होगी।
  • कृत ऋण राशि का चुकारा एक वर्ष की अवधि में करना होगा तथा ऋणी आगामी वर्ष के लिए साख सीमा का नवीनीकरण करवा सकेगा।

आजीविका ऋण योजना की पात्रता

आजीविका ऋण योजना के तहत मिलने वाले ऋण के लिए निम्न पात्रता होगी-

  • प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के परिवार आजीविका ऋण योजना के लिए पात्र होंगे।
  • राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्र में विगत 5 वर्षों से निवास कर रहे परिवार ऋण के लिए पात्र होंगे
  • प्रदेश में लघु एवं सीमान्त कृषक तथा भूमिहीन श्रमिक जो कि किरायेदार, मौखिक पट्टेदार, बटाईदार आदि के रूप में काश्त कर रहे हैं, के परिवार भी पात्र होंगे।
  • ग्रामीण दस्तकार तथा अकृषि कार्यों में जीवन यापन करने वाले ग्रामीण परिवार के सदस्य भी पात्र होंगे।
  • साथ ही राजीविका के स्वयं सहायता समूहों, उत्पादक समूहों एवं व्यवसायिक समूहों के व्यक्तिगत सदस्यों को सामूहिक गतिविधियों के लिए ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा।

राजस्थान आजीविका ऋण योजना के लिए आवश्यक दास्तावेज

राजस्थान आजीविका ऋण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्न प्रकार है –

  • आवेदक के परिवार का जन आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • आवेदक का आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • परिवार के सदस्य के पास किसी भी लाईसेंसधारी बैंक से जारी किया हुआ किसान कार्ड होना चाहिए। 
  • जिन परिवारों के पास किसान क्रेडिट कार्ड नहीं हो उनको नये सदस्य के रूप में अकृषि कार्याें हेतु के्रडिट कार्ड स्वीकृत करेगा।

अधिकतम 2 लाख रुपये का ऋण मिलेगा

प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के परिवारों को आजीविका ऋण योजना लागू की है जिसके तहत वर्ष 2022-23 में एक लाख परिवारों को अकृषि कार्यों के लिए 2 हजार करोड़ रूपये का ब्याज मुक्त ऋण मुहैया करवाया जाएगा।

आजीविका ऋण योजना के तहत प्रति समूह अधिकतम 10 सदस्यों को व्यक्तिगत रूप से ऋण दिया जायेगा एवं ऋण की अधिकतम राशि 2 लाख रुपये होगी।

राजस्थान की गहलोत सरकार ने  प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के परिवारों के लिए 25 हजार से लेकर 2 लाख रुपये तक ऋण बिना ब्याज के मिलेगा। कृषि कार्यों के संग अकृषि कार्यों के लिए भी ब्याज मुक्त ऋण मिल पाएगा।

आवेदक से कोई प्रोसेसिंग फीस नहीं ली जाएगी

आपको बता दें कि दोस्तों बहुत सारी ऋण योजनाएँ ऐसी होती है जिनसे ऋण लेने के लिए आवेदक को प्रोसेसिंग फीस और इसके साथ अन्य प्रकार की फीस के भुगतान करने होते है।

आवेदक को सम्पूर्ण ऋण साख सीमा के रूप में स्वीकृत किया जायेगा। साख सीमा राशि का आँकलन व्यवसाय की पूंजीगत आवश्यकताओं, कार्यशील पूँजी तथा रोजमर्रा की जरूरतों को ध्यान में रखकर की जायेगी।

राजस्थान सरकार आजीविका ऋण योजना आवेदन प्रक्रिया

आजीविका ऋण योजना में पात्र परिवारों के चयन प्रक्रिया की बात करें तो जिला कलेक्टर द्वारा जिले को आवंटित कुल लक्ष्य संख्या के आधार पर ग्रामीण क्षेत्र से पात्र परिवार का चयन किया जायेगा।

पोर्टल पर प्राप्त ऑनलाईन आवेदनों का जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में कमेटी पात्रता मापदण्डों का परीक्षण कर ऋण आवेदन-पत्र सम्बन्धित बैंक शाखा को भेजेगी। शाखा 15 दिवस में ऋण स्वीकृति पर निर्णय लेगी।

राजस्थान सरकार का एक लाख परिवारों को ऋण देने का लक्ष्य

राजस्थान सरकार की आजीविका ऋण योजना के तहत वाणिज्यिक बैंकों द्वारा 55 हजार 158, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों द्वारा 36 हजार 741, सहकारी बैंकों द्वारा 5 हजार 949 तथा स्माल फाईनेन्स बैंकों द्वारा 2 हजार 152 सहित कुल एक लाख ग्रामीण परिवारों को ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है।

Farmer Loan In Rajasthan Important Links

Sarkari Naukri Telegram ChannelJoin Now
Sarkari Naukri WhatsApp GroupJoin Now
Home PageVisit

Farmer Loan In Rajasthan FAQs

1. राजस्थान आजीविका ऋण योजना के तहत कितना ऋण मिलेगा?

राजस्थान आजीविका ऋण योजना के तहत 25 हजार से लेकर 2 लाख रुपये तक ऋण बिना ब्याज के मिलेगा। कृषि कार्यों के संग अकृषि कार्यों के लिए भी ब्याज मुक्त ऋण मिल पाएगा।

2. राजस्थान आजीविका ऋण योजना के तहत ऋण कितने समय के लिए मिलेगा?

राजस्थान आजीविका ऋण योजना के तहत ऋण स्वीकृत साख सीमा का प्रतिवर्ष नवीनीकरण करवाना होगा अर्थात् एक वर्ष पूर्ण होने पर खाते में बकाया राशि जमा करवाकर साख सीमा को अगले वर्ष के लिए नवीनीकृत करवाना होगा।

Leave a Comment