8th Pay Commission: अंतरिम बजट में 8वें वेतन आयोग के गठन का संकेत दे सकती है केंद्र सरकार, जानिए पूरी खबर

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी 2024 को अंतरिम बजट पेश करेगी। वित्त मंत्री इस बजट में केंद्रीय कर्मचारियों को 8वें वेतन आयोग के गठन का संकेत दे सकती है।

दरअसल, इस साल लोकसभा चुनाव होने वाले है ऐसे में केंद्र सरकार के द्वारा कर्मचारियो के लिए एक बड़ी घोषणा की जा सकती है। 8वें वेतन आयोग के गठन होने से केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स की सैलेरी में जबरदस्त इजाफा होगा।

सरकारी भर्तियों व योजनाओं से जुडी अपडेट सबसे पहले पाने के लिए टेलीग्राम चैनल ज्वाइन करें - यहाँ क्लिक करें

हालांकि केंद्र सरकार ने 8वें वेतन आयोग के गठन के लिए अभी तक किसी भी प्रकार की स्पष्ट खबर नहीं दी है। उम्मीद है कि लोकसभा चुनाव से पहले सरकार इस प्रकार अपना कोई फैसला सुना सकती है।

केंद्रीय कर्मचारियों ने 8वें वेतन आयोग के गठन की भी मांग उठाई है और इसके साथ ही कोरोनोकाल के दौरान 18 महीने के डीए का एरियर जारी करने की मांग की है।

सरकार द्वारा चुनाव से पहले केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को लुभाने के लिए एक बड़ा ऐलान कर सकती है। 2024 के पहले छमाही में केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भते में भी 4 से 5 फिसदी इजाफा किया जा सकता है।

अगर ऐसा होता है तो केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़कर 50 फिसदी या इससे पार हो जाएगा। ऐसे में केंद्रीय कर्मचारियों को बढ़िया लाभ मिलेगा। कर्मचारियो का HRA रिवाइज हो जाएगा।

साल में दो बार केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भते में बढ़ोतरी होती है जो की प्रत्येक छमाही में की जाती है। अभी वर्तमान समय में कर्मचारियो को 46 फिसदी के हिसाब से महंगाई भत्ता दिया जा रहा है।

10 साल बाद गठित होता है वेतन आयोग

अभी केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को 7वें वेतन आयोग के आधार पर लाभ दिया जा रहा है। यदि 8वें वेतन आयोग का गठन किया जाता है तो इसका लाभ केंद्र के 48.67 लाख कर्मचारियो और 67.95 लाख पेंशनर्स को होगा।

READ THIS-   Top Business Ideas In Village: गाँव में रहकर इन बिजनेस को शुरू कर शानदार कमाई करे, जाने पूरी डिटेल

8वें वेतन आयोग के गठन से इनकी बेसिक सैलेरी में तीन गुना वृद्धि हो सकती है इसके अलावा फिटमेंट फैक्टर में भी बढ़ोतरी होगी। 7वें वेतन आयोग की सिफारिश के अनुसार यह कहा गया कि वेतन आयोग का गठन हर 10 साल में हो यह कोई जरूरी नही। 2013 में आम चुनाव से पहले UPA सरकार ने 7वें वेतन आयोग के गठन के लिए ऐलान किया था।

ऐसे में इस बार भी 2024 में लोकसभा चुनाव आने वाले है ऐसे में यह उम्मीद लगाई जा रही है कि इस बार भी चुनाव से पहले खुशखबरी दी जा सकती है। आठवें वेतन आयोग के लागू करने के कई तरह के कयास लगाए जा रहे है।

बेसिक सैलेरी में होगा इजाफा

यदि आठवां वेतन आयोग लागु हो जाता है तो केंद्रीय कर्मचारियों को इससे बड़ा फायदा मिलेगा। केंद्रीय कर्मचारियो का फिटमेंट फैक्टर बढ़कर करीब 3.68 गुना हो जाएगा।

महंगाई भत्ता जनवरी माह में 4 से 5 फिसदी बढ़ता है तो कर्मचारियो का हॉउस रेंट अलाउंस में भी रिवाइज हो जाएगा। ऐसे में महंगाई भत्ता बढ़कर 50 फिसदी के पार हो जाएगा। कर्मचारियो की सैलरी में भी 44.44 फिसदी का इजाफा देखने को मिल सकता है।

Join WhatsApp