8th Pay Commission: अब किसी भी समय हो सकती है महंगाई भते में बढ़ोतरी, जानिए महंगाई भत्ता 50 फिसदी कितना मिलेगा फायदा?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

केंद्रीय कर्मचारियों को वर्तमान समय में 46 फिसदी के हिसाब से महंगाई भत्ता दिया जा रहा है। 2023 के दूसरे छमाही में महंगाई भत्ता चार फिसदी बढ़ाया था। अब केंद्रीय कर्मचारियो को उम्मीद है कि नए साल के पहले छमाही में महंगाई भत्ता 4 से 5 फिसदी तक बढ़ाया जा सकता है।

यदि ऐसा हो जाता है तो केंद्रीय कर्मचारियों को बढ़िया लाभ मिलेगा। महंगाई भत्ता चार से पांच फीसदी बढ़ने से केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 50 फिसदी या इससे पार पहुँच जाएगा। इसके पश्चात केंद्र सरकार 8वें वेतन आयोग को लागु करने को लेकर भी एक्शन ले सकती है।

सरकारी भर्तियों व योजनाओं से जुडी अपडेट सबसे पहले पाने के लिए टेलीग्राम चैनल ज्वाइन करें - यहाँ क्लिक करें

स्टाफ साइड की राष्ट्रीय परिषद और अखिल भारतीय रक्षा कर्मचारी महासंघ के महासचिव श्री कुमार ने बताया कि केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता मौजूदा समय में 46 फिसदी है। जब 2024 की पहली छमाही के लिए जनवरी में महंगाई भत्ता 4 से 5 फिसदी बढ़ाया जाएगा तो महंगाई भते का आंकड़ा 50 या इससे पार हो जाएगा।

महंगाई भत्ता 50 से पार हो जाने के बाद 8वें वेतन आयोग के गठन का प्रस्ताव रखा जाएगा। कर्मचारी संगठन द्वारा इसके लिए हल्लाबोल किया जाएगा। आइये जानते है संबंधित संपूर्ण जानकारी विस्तार से आप हमारे साथ इस आर्टिकल के माध्यम से अंत तक जरूर बने रहे।

139.1 अंको पर पहुँचा सूचकांक

2023 के नवम्बर के लिए भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के श्रम ब्यूरो के द्वारा 31 दिसम्बर 2023 को अखिल भारतीय सीपीआई-आइडब्ल्यू में 0.7 अंको की बढ़ोतरी दर्ज की है। जिससे की अब उपभोक्ता मूल्य सूचकांक 139.1 पर पहुँच गया है। इसके आधार पर यह संभावना जताई जा रही है की जनवरी 2024 में महंगाई भत्ता और महंगाई राहत में 4 से 5 फिसदी की बढ़ोतरी की जा सकती है।

READ THIS-   राजस्थान बजट में हुई बड़ी घोषणा! गर्भवती महिलाओं को अब मिलेंगे 6500 रुपये

औद्योगिक श्रमिको के लिए श्रम एवं रोजगार मंत्रालय में श्रम ब्यूरो द्वारा कार्यालय में हर माह सूचकांक का संकलन पुरे भारत में फैले हुए 88 महत्वपूर्ण औद्योगिक केंद्रों के 317 बाजारों से एकत्रित खुदरा मूल्यों के आधार पर किया जाता है। श्रम ब्यूरो द्वारा यह संकलन आगामी महिने के अंतिम कार्यदिवस पद जारी किया जाता है। अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक 0.7 अंक बढ़ोतरी से 139.1 पहुँच गया है।

0.65 बिंदु प्रतिशतता से प्रभावित हुआ बदलाव

सूचकांक में दर्ज वृद्धि में अधिकतम योगदान खाद्य एवं पेय समूह का रहा है, जिसने कुल बदलाव को 0.65 बिंदु प्रतिशतता से प्रभावित किया है। मदों में चावल, गेंहू का आटा, ज्वार, अरहर, दाल/तूर दाल, मुर्गी के अंडे, तिल का तेल, ताजा नारियल पल्प के साथ, गाजर, ड्रम स्टिक, फ्रेंच बीन, लहसुन, भिंडी, प्याज, टमाटर, चीनी, जीरा, तैयार भोजन, जर्दा किमाम/सुर्ती, गुटका, तंबाकू पत्ता, सिलाई प्रभार, रेडीमेड ट्राउजर पैंट्स, चमड़े के सैंडल चप्पल स्लिपर्स, घरेलू बिजली प्रभार, किताबें स्कूल/आईटीआई, ट्यूशन एवं अन्य फीस कालेज, इत्यादि सूचकांक को बढ़ाने में सहायक है। ताजा मछली, पोल्ट्री / चिकन, सोयाबीन तेल, सूरजमुखी का तेल, सेब, केला, अंगूर, संतरा, शिमला मिर्च, फूलगोभी, हरी मिर्च, अदरक, नींबू, मटर, एलोपेथिक दवाईयां, इत्यादि वृद्धि में सहायक है।

महंगाई भत्ता 50 फिसदी या इससे पार होने पर क्या होगा ?

पिछले कुछ सालों से केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महंगाई भते में केंद्र सरकार के द्वारा 4 फिसदी की बढ़ोतरी को जा रही है। यह अनुमान लगाया जा रहा है की जनवरी माह में भी महंगाई भत्ता 4 से 5 फिसदी तक बढ़ सकता है। यदि ऐसा होता है तो केंद्रीय कर्मचारियो को बहुत लाभ मिलेगा, कर्मचारियो की सैलरी रिवाइज हो जाएगी।

READ THIS-   Rajasthan BSTC 2023 Application form: राजस्थान बीएसटीसी एप्लीकेशन फॉर्म 2023 नोटिफिकेशन जारी, यहाँ से आवेदन करे

कई तरह के अन्य भतो में भी 25 फिसिदी की बढ़ोतरी हो सकती है। इस स्थिति में केंद्र सरकार को 8वें वेतन आयोग का गठन करना होगा। 7वें वेतन आयोग ने सिफारिश की थी की केंद्र में पे रिवाइज हर दस साल में हो यह जरूरी नही है। यह एक पिरियोडिक्ल भी हो सकता है। हालांकि वेतन आयोग ने यह कोई स्पष्ट नही किया कि कब और कितने समय बाद वेतन आयोग गठित होगा।

Join WhatsApp